रविवार, 9 फ़रवरी 2014

इस गांव में कभी नहीं हुई चोरी-डकैती


                        

कोरबा। छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में एक ऐसा भी गांव है, जहां 107 साल से किसी भी तरह का झगड़ा-विवाद या चोरी-डकैती नहीं हुई है। इस गांव का एक भी मामला अभी तक थाने में नहीं पहुंचा है।
कोई विवाद होता भी है तो निपटारा गांव की चौपाल पर हो जाता है। इसे आदर्श गांव माना गया है। जिला मुख्यालय से 60 किलोमीटर दूर गांव फूलझर देश के अन्य स्थानों से इसलिए अलग है क्योंकि 1907 के बाद से इस गांव में न मारपीट हुई और न ही चोरी हुई। यहां की चौपाल ही थाना और न्याय का मंदिर है। यहां पंच परमेश्वर ही फैसले कर विवाद सुलझ लेते हैं। यही वजह है कि फूलझर को अपराध विहीन आदर्श गांव घोषित होने पर मुख्यमंत्री ने पुरस्कृत किया है। कोरबा के पुलिस अधीक्षक रतनलाल डांगी कहते हैं कि फूलझर एक आदर्श गांव है, जिसे अपराध शून्य होने की वजह से पुरस्कार से नवाजा गया है। इससे अन्य गांवों के ग्रामीणों को भी सीख लेनी चाहिए। अगर राज्य के सभी गांव ऐसे ही हो जाएं तो छत्तीसगढ़ को अपराधमुक्त राज्य बनने से कोई रोक नहीं सकता।

यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है:facingverity@gmail.com.पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!
Source – KalpatruExpress News Papper


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें