सोमवार, 3 मार्च 2014

दुनिया के कुछ नायाब होटल सबसे अधिक ऊंचाई पर स्थित हैं-

                                                    


दुनिया के कुछ नायाब होटल सबसे अधिक ऊंचाई पर स्थित हैं। यूरोप के पर्वतों पर स्थित ऐसे ही कुछ खास होटलों के बारे में आज हम आपको बता रहे हैं। स्विट्जरलैंड के मैटरहॉर्न पर्वत पर सूर्योदय के नैसर्गिक नजारे से बेहतर सुबह की शुरुआत नहीं हो सकती लेकिन समस्या है कि यहां बने होटल में रात को अच्छी नींद नहीं आ पाती है। यहां ठहरने वाले मेहमान सुबह तक खुद को तरोताजा महसूस नहीं कर पाते हैं क्योंकि यह अत्यधिक ऊंचाई पर स्थित है फिर भी इन होटलों के चाहने वाले बहुत हैं।
हालांकि आरामदायक बिस्तरों तथा अनोखे नजारों वाला कल्महोटल गोरनरग्रेट ठहरने के लिए एक उम्दा होटल है। समुद्र तल से 3,100 मीटर की ऊंचाई पर हवा में ऑक्सीजन का स्तर काफी कम होने की वजह से यहां ठहरने वाले मेहमानों को परेशानी हो सकती है। लेकिन होटल के कई मेहमान भाग्यशाली भी रहते हैं कि उन्हें इस ऊंचाई पर अधिक समस्या का सामना नहीं करना पड़ता।
होटल के डायरेक्टर थॉमस मरबाक के अनुसार कुछ नहीं कहा जा सकता कि लोगों पर ऊंचाई का क्या असर होगा। एक रात से अधिक के लिए कमरा बुक करवाने वालों को ऊंचाई का अभ्यस्त होने में सुगमता होती है क्योंकि ऊंचे वातावरण का आदी होने में शरीर को कुछ समय लगता है।
अधिक ऊंचाई पर सांस लेने में तकलीफसिरदर्द एवं नींद न आना जैसी समस्याएं होती हैं परंतु इसके बावजूद पर्यटकों में यह होटल बेहद लोकप्रिय है क्योंकि होटल से बेहद खूबसूरत नजारे दिखाई देते हैं।
स्विट्जरलैंड में हजार मीटर से अधिक ऊंचे 46 पर्वत हैंजिनमें से 29 इस होटल से दिखाई देते हैं। दुनिया में शायद ही कोई अन्य स्थान होगा जहां पर्वतीय सौंदर्य का इससे अधिक विहंगम नजारा दिखाई देता हो।
यहां फैली अद्भुत शांति भी 1907 में बने इस होटल के आकर्षण में चार चांद लगाती प्रतीत होती है।
यूरोप के सर्वाधिक ऊंचे स्थलों में से एक पर कुछ अन्य कठिनाइयों का सामना भी करना पड़ता हैखासकर जब तूफानी हवाएं चलने पर बिजली की तारों से चलने वाली रेल बंद हो जाती है जो इस होटल तक मेहमानों को लाने- ले जाने का काम करती है। इटली के दक्षिण टाइरोल की स्कनालस्ताल घाटी में स्थित बर्गहोटल ग्राएंड भी प्रकृति की नियमित मार ङोलता है।
3,212 मीटर की ऊंचाई पर इस होटल तक एक केबल-कार ले जाती है। इसके करीब स्थित स्कनालस्ताल ग्लेशियर में ही आश्चर्यजनक रूप से कुदरती तौर पर अच्छी हालत में ममी बने 5,000 साल से अधिक प्राचीन मानव का शरीर मिला था। बाद में जिसका नाम ओएत्जी रखा गया।
होटल से दिखने वाला कुदरती नजारा भी कम दिलकश नहीं है। हजार मीटर से अधिक ऊंचे अनेक पर्वत शिखरों के अलावा पिज बेरनीना शिखर भी दिखता है।
4,049 मीटर ऊंचा यह पूर्वी आल्प्स का सबसे ऊंचा शिखर है।
दिन साफ हो तो दूर स्थित गारदा ङील भी दिखाई दे जाती है। यूरोप में ऊंचाई पर स्थित कुछ होटल हैंजि नमें स्विट्जरलैंड के दो अन्य होटल भी शामिल हैं। एक है बर्नीज हाईलैंड (2,345 मीटर) में स्थित बरघाऊस मेइन्नलिचेन और दूसरा बर्गहोटल फॉलहॉर्न (2,684 मीटर)। स्विट्जरलैंड के ही ग्रिसन्स में हजार मीटर की ऊंचाई पर स्थित डाइवोले का भी एक खास होटल है जो चारों ओर से बेरनीना समूह की पहाड़ों से घिरा है। कुछ अधिक रोमांच के लिए अनुभवी स्टाफ के दिशा-निर्देश में होटल से नीचे घाटी तक स्कीइंग करके पहुंचा जा सकता है। बर्फ पर पूर्णिमा की चांदनी खूब चमकती हैजिसकी रोशनी में स्कीइंग करने में कोई परेशानी नहीं होती है।
स्विट्जरलैंड में ही 2,456 मीटर की ऊंचाई पर स्थित बर्ग यूतास मूरागल भी उम्दा होटल है। ऊंचाई पर स्थित अच्छे होटलों में इटली का एल्पेनगास्तोफ तिब्बत भी है। इसका गोल आकार तिब्बत में बनी झोपड़ियों की नकल है। दक्षिण टाइरोल में 2,800 मीटर ऊंचे स्टिफसर जोख नामक पर्वत पर यह बना है।
ऑस्ट्रिया के होटल अपेक्षाकृत कम ऊंचे हैं। 2,500 मीटर पर स्थित एडलर लांज एक स्मार्ट लाइफ स्टाइल होटल हैजो ग्रोसग्लॉकनर पर्वत के निकट काल्स की खड़ी चट्टानों पर आधुनिक वास्तुशिल्प के दर्शन करवाता है। यहां से 3,000 मीटर से अधिक ऊंचे 60 पर्वत शिखर दिखाई देते हैं।
ऑस्ट्रिया में ही 2,350 मीटर की ऊंचाई पर होचजिलेर्टल पर्वत पर वेदेलहुएत नामक पांच सितारा होटल स्थित है। इसी ऊंचाई पर स्थित है सालबर्ग इलाके का रुडोल्फशुएत होटल जहां से तौएर्न नेशनल पार्क तक फैली पहाड़ियां तथा अनेक ग्लेशियर दिखाई देते हैं। यह इलाका हाइकर्स तथा सस्पेंशन माउंटेन बाइकर्स में खासा लोकप्रिय है।

यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करनाचाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है:facingverity@gmail.com.पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!
Source – KalpatruExpress News Papper
  





कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें