शनिवार, 8 मार्च 2014

शादी के लिए इस गांव के सारे लोग मांगते हैं ‘भीख’



कानपुर। एक गांव के सारे के सारे लोग शादी करने के लिए भीख मांगते हैं और जीवनभर भीख ही मांगते रहते हैं। ऐसा अनोखा गांव जहां रहने वाला हर शख्स भिखारी है, कहीं और नहीं बल्कि कानपुर शहर के नजदीक ही है।
भिखारियों के गांव के रूप में मशहूर इस गांव का नाम कपड़िया बस्ती है, जहां टूटी- फूटी झोपड़ियां ही नजर आती हैं और हर शख्स रोज करीब 500 रुपये कमा लेता है। एक और आश्चर्यजनक बात यह है कि यहां हर शख्स वह चाहे बूढ़ा हो या जवान चेहरे पर दाढ़ी रखता है और गेरुआ चोला पहनता है। इतना ही नहीं बल्कि यहां बच्चे से बड़े होने वाले नौजवान भी कभी अपनी दाढ़ी नहीं कटवाते ताकि वे दिखने में भिखारी लग सकें।
भिखारियों के इस कपड़िया बस्ती की आबादी करीब तीन से चार हजार के बीच में है लेकिन हर व्यक्ति भीख मांगने में मशगूल है। इन गांव में एक परम्परा है कि यदि कोई व्यक्ति भीख मांगने के बजाय कोई दूसरा काम करता है तो उसे तवज्जो नहीं दी जाती और उसकी शादी तक होने में दिक्कत आती है। जबकि भीख मांगने वाले के लिए शादी का रिश्ता जल्दी से मिल जाता है। इस मजबूरी के चलते यहां का हर नवयुवक किसी और काम के बजाय भीख मांगना पसंद करता है। कपड़िया बस्ती के लोग रोज सुबह गेरुआ वस्त्र पहनकर हाथ में कटोरा लिए भीख मांगने निकल जाते हैं। इतना ही नहीं बल्कि इनका भीख मांगने का नेटवर्क दिल्ली तक है। जबकि कुंभ के दौरान ये इलाहाबाद तथा गणोश पूजा के दौरान महाराष्ट्र तक तक पहुंच जाते हैं।
यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करनाचाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है:facingverity@gmail.com.पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!
Source – KalpatruExpress News Papper

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें